EDUCATION NEWS top news of udaipur UDAIPUR

वेदांता स्नातकोत्तर महाविद्यालय की 3000 छात्राओं को लेपटाॅप वितरीत हुई हाईटेक

हिन्दुस्तान ज़िंक की चेयरमेन किरण अग्रवाल, ट्रस्टी सुमन डीडवानिया और शेखावटी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बीएल शर्मा ने प्रदान किये लेपटाॅप

छात्राओं को लेपटाॅप से रिसोर्सफुल बनाने में वेदांता की पहल अनुकरणीय- प्रो.बीएल शर्मा, वीसी पंडित दीनदयाल उपाध्याय शेखावटी विश्वविद्यालय

वेदांता स्नातकोत्तर महाविद्यालय, रींगस की 3000 छात्राओं को लेपटाॅप प्रदान किये गये जिनसे ये छात्राएं हाइटेक हो कर वर्तमान समय की आवश्यकता अनुरूप अपनी शिक्षा और ज्ञान में और बढ़ोतरी कर सकेगीं। वेदांता रींगस काॅलेज में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथी पंडित दीनदयाल उपाध्याय शेखावटी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बीएल शर्मा, हिन्दुस्तान ज़िंक की चेयरमेन एवं वेदांता फाउण्डेशन की ट्रस्टी श्रीमती किरण अग्रवाल एवं ट्रस्टी सुमन डीडवानिया ने छात्राओं को लेपटाॅप वितरित किये।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथी के रूप में प्रो बीएल शर्मा ने कहा कि इस क्षेत्र में छात्राओं को शिक्षित करने के पुनीत कार्य को करने में वेदांता हमेशा से अग्रणीय रहा है, जिन्हें अब लेपटाॅप देकर रिसोर्सफुल बनाने की पहल अनुकरणीय है। उन्होंने छात्राओं से आव्हान किया कि यदि आपकों अच्छा व्यक्ति बनना है तो साधनयुक्त होना आवश्यक है जिसे वेदांता ने पूरा किया है। इसके साथ ही सफलता के लिए लक्ष्य, दृढ़निश्चय, प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ना चाहिए जिसके लिए जीवन मूल्य अपनाने होगें। उन्होंने कहा कि जिम्मेदारी कभी भी अच्छे होने के दुष्प्रभाव नही होने देती जिसे हमे साथ लेकर लक्ष्य की ओर बढ़ना होगा।
इस अवसर पर हिन्दुस्तान ज़िंक की चेयरमेन एवं वेदांता फाउण्डेशन की ट्रस्टी श्रीमती किरण अग्रवाल ने छात्राओं को मन लगाकर अध्ययन करने एवं अपने अभिभावकों के स्वप्न साकार करने के लिए कहा। उन्होंने छात्राओं को लक्ष्य निर्धारित कर उसी पर केन्द्रीत होने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि इस लेपटाॅप के माध्यम से आधुनिक ज्ञान सम्पन्न हो कर समाज की मुख्यधारा में स्वयं को स्थापित करें। उन्होंने छोटे बच्चों के लिए स्वयं द्वारा रचित नवीन रोचक एनिमेशन कहानियों की जानकारी भी दी जिसे कार्यक्रम में प्रदर्शित किया गया। उनके काॅन्सेप्ट विडियों ’वोका’ वाॅइस आफ किरण अग्रवाल यू ट्यूब पर उपलब्ध हैै।
कार्यक्रम में वेदांता फाउण्डेशन की ट्रस्टी श्रीमती सुमन डीडवानिया ने छात्राओं को वेदांता फाउण्डेशन द्वारा संचालित कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए कहा जीवन के हर क्षेत्र में सफलता के लिए कडी मेहनत और कठिनाइयों का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहें। उन्होंने खुशी व्यक्त की कि कुछ छात्राएं अपने परिवार से पहली पीढ़ी की स्नातक बनने जा रही है जो समाज में महिलाओं के लिए गौरव का विषय है।
वेदांता महिला महाविद्यालय ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं को विगत 25 वर्षो से अल्पव्यय में सर्वसाधन सम्पन्न उत्कृष्ट उच्च शिक्षा प्रदान कर रोजगारोन्मुखी भविष्य का निर्माण कर महिला शिक्षा को बढ़ावा दे रहा है। इस महाविद्यालय में अध्ययन के उपरान्त छात्राएं स्वावलंबी एवं आत्मनिर्भर जीवन जी कर समाज और राष्ट्र निर्माण में सहयोग कर रही है। महाविद्यालय में रींगस के आसपास के 60 गांव और ढ़ाणियों की छात्राएं 40 किलोमीटर दूर से आ कर अध्ययन कर रही है वहीं हिन्दुस्तान ज़िंक द्वारा ग्रामीण बालिकाओं को उच्चशिक्षा से जोडने के लिए अपने स्मेल्टर और माइनिंग इकाइ के आसपास के गांवों से चयनित छात्राओं को कला, वाणिज्य और विज्ञान की स्नातक डिग्री प्राप्त करने के लिए पांच जिलों की 97 छात्राएं वेंदाता महाविद्यालय छात्रावास में रहते हुए निःशुल्क अध्ययन कर रही है। वेदाता फाउण्डेशन द्वारा महिला सशक्तिकरण हेतु राजस्थान स्कील लाइवलीहुड डेवलपमेंट कार्पोरेशन द्वारा संचालित 2 कोर्सेज भी संचालित किये जा रहे है जिनमें 60 महिलाएं लाभान्वित हो रही है।
इस मौके पर महाविद्यालय की छात्राओं ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुती दी । महाविद्यालय की प्राचार्य डाॅ अल्का सक्सेना एवं सचिव एसएन पारीक ने महाविद्यालय की गतिविधियों एवं शैक्षणिक विषय एवं परिणाम की जानकारी दी। वेदांता फाउण्डेशन द्वारा संचालित स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने स्वनिर्मित हस्तउत्पाद प्रदान कर अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के सभी प्रवक्ता, अन्य सदस्य, नगर के गणमान्यजन एवं छात्राएं उपस्थित रहीं। महाविद्यालय उपप्राचार्य डाॅ अर्चना शर्मा ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *